भारत की अर्थव्‍यवस्‍था के लिए यह अच्‍छी खबर है। चालू वर्ष के दूसरे क्‍वार्टर में भारत की जीडीपी 8.3% की दर से बढ़ रही है और पूरे साल में यह 9.4% आंकी गई है। यह अनुमान ICRA ने लगाया है।

अप्रैल से अक्टूबर तक पहले सात महीनों के लिए भारत का राजकोषीय घाटा पूरे साल के लक्ष्य का 36.3 प्रतिशत तक पहुंच गया। राजकोषीय अंतर 5.47 लाख करोड़ रुपये था। शुद्ध कर प्राप्तियां 10.53 लाख करोड़ रुपये थीं जबकि कुल व्यय 18.27 लाख करोड़ रुपये था। सरकार ने इस साल का राजकोषीय घाटा 6.8 फीसदी रहने का अनुमान लगाया था।

Posted By: Navodit Saktawat

 



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here