Publish Date: | Mon, 05 Jul 2021 10:45 PM (IST)

नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने विमानन क्षेत्र को राहत देते हुए घरेलू उड़ानों में मौजूदा 50 प्रतिशत यात्री क्षमता को बढ़ाकर 65 प्रतिशत कर दिया है। यानी घरेलू उड़ानें अब 65 प्रतिशत यात्री क्षमता के साथ संचालित हो सकेंगी। इससे पहले कोरोना महामारी को देखते हुए केन्द्र सरकार ने एक तरफ अंतरराष्ट्रीय वाणिज्यितक उड़ानों पर रोक लगा दी थी, वहीं घरेलू उड़ानों में केवल 50 प्रतिशत पैसेंजर्स को ही यात्रा करने की अनुमति दी थी। लॉकडाउन और महामारी की वजह से कई महीनों तक एयरलाइन्स के लिए 50 पीसदी यात्री जुुटाना भी मुश्किल हो गया था। लेकिन अब हालात थोड़े बेहतर हुए हैं, तो सरकार ने सोमवार को घरेलू एयरलाइंस को कुछ अधिक क्षमता के साथ संचालित होने की अनुमति दी। कई राज्यों द्वारा लॉकडाउन में ढील दिए जाने के बाद इनकी मांग भी काफी बढ़ी है।वैसे, सरकार ने 65 फीसदी क्षमता के इस्तेमाल की अनुमति फिलहाल 31 जुलाई या अगले आदेश तक के लिए ही दी है।

The Civil Aviation Ministry allowed domestic carriers to operate at 65% passenger capacity from the current 50%.

— ANI (@ANI) July 5, 2021

आपको बता दें कि देश में जैसे ही कोविड संक्रमणों के मामलों की संख्या बढ़ी, भारतीय विमानन क्षेत्र के लिए डोमेस्टिक पैसेंजर्स ट्रैफिक में कमी आती गई। इस साल अप्रैल से मई के बीच डोमेस्टिक पैसेंजर्स ट्रेफिक में लगभग 65-67 प्रतिशत की गिरावट देखी गई। मई में घरेलू पैसेंजर्स की संख्या लगभग 2 मिलियन रह गई, जबकि अप्रैल में ये करीब 5.73 मिलियन था। इसका असर उड़ानों की संख्या पर भी पड़ा। अप्रैल में रोजाना प्रस्थान करने वाली उड़ानों की औसत संख्या लगभग 2000 थी, जो मई में घटकर 900 रह गई।

Posted By: Shailendra Kumar

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 

Show More Tags





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here