नई दिल्ली. दिग्गज टेक कंपनी गूगल (Google) एंड्रायड फोन यूजर के लिए डिजिटल वैक्सीन कार्ड (Digital Vaccine Card) को लाने की तैयारी कर रहा है. यूजर अपने फोन पर अपने वैक्सीनेशन या कोविड-19 के स्टेटस को स्टोर कर सकेंगे और किसी भी समय इसे एक्सेस कर सकेंगे. ये सुविधा तब तक उपलब्ध रहेगी जब तक सरकारी संस्था गूगल के नए टूल पर यूजर के रिकार्ड्स को डिजिटल तरीके से शामिल करती रहेगी.

गूगल का ये फीचर बहुत जल्द अमेरिका में शुरू होने जा रहा है और दूसरे देशों में भी जल्द शुरू किया जाएगा. हालांकि गूगल ने अभी उन देशों के नामों का खुलासा नहीं किया है. गूगल ने कहा कि इस फीचर में यूजर की किसी भी जानकारी की कॉपी को अपने पास नहीं रखेगा.

ये भी पढ़ें- अमेजन पे लेटर हुआ हिट! लॉन्च के एक साल के बाद 20 लाख कस्टमर्स ने किया साइन-अप, आप भी उठा सकते हैं लाभ

कैलिफोर्निया उन राज्यों में शामिल है, जिन्होंने अपने सिस्टम के माध्यम से डिजिटल कार्ड को सुलभ और सामान्य बनाने के लिए एक कार्यक्रम शुरू किया है. टेक्नोलॉजी कंपनियों ने डिजिटल वैक्सीन पासपोर्ट के लाभों को आगे बढ़ाया है, कुछ कंपनियों और स्थानों को इस प्रमाण की खास आवश्यकता होती है, जिसमें फर्जी कार्ड पहले से ही एक समस्या बने हुए हैं.

महामारी की शुरुआत में गूगल और ऐप्पल ने मोबाइल फोन का उपयोग करके रोग संपर्क का पता लगाने के प्रयास शुरू किए थे. लेकिन सरकारों और उपभोक्ताओं के साथ किया गए कई प्रयासों का कोई नतीजा नहीं निकला. गूगल ने कहा कि Healthvana Inc. एक मेडिकल डेटा कंपनी, लॉस एंजिल्स में गूगल के सिस्टम का अभी उपयोग कर रही है.

ये भी पढ़ें- चीनी ऐप्स पर बैन के एक साल! क्या अब भी भारतीय मिस कर रहे हैं TikTok.. जानें अब क्या है विकल्प?

वैक्सीन पासपोर्ट क्या है

ये पासपोर्ट या कार्ड ये दिखाता है कि आपको कोविड-19 का टीका लगा हुआ है और अभी आप कोविड नेगेटिव पाए गए हो. ये कार्ड आपको स्टेडियम या यहां तक ​​कि उन देशों में जाने में मदद कर सकते हैं जो सुरक्षित रूप से फिर से खोलना चाहते हैं. ये कार्ड अंतरराष्ट्रीय यात्रा प्रतिबंधों को आसान बनाने में मदद कर सकते हैं क्योंकि लोग इस बात का सबूत दिखा पाएंगे कि उन्हें टीका लगाया गया है. .



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here