अमेरिकी आईटी कंपनी कासिया (Kaseya) पर हाल ही में एक बड़ा रैनसमवेयर अटैक (Ransomware Attack) हुआ है. इस साइबर हमले में Kaseya के कॉर्पोरेट नेटवर्क और इसके सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल करने वाली कम से कम 1000 कंपनियों को निशाना बनाया गया. इस साइबर अटैक को अंजाम देने का शक रशियन साइबर क्राइम ग्रुप रेविल (REvil) पर है. रैनसमवेयर अटैक एक ऐसा साइबर अटैक है जिसमें एक मैलिशियस सॉफ्टवेयर, यानी कि वायरस फाइल वाला सॉफ्टवेर है, जो कि किसी के कंप्यूटर में वेब या इंटरनेट के ज़रिए इंटर कर जाता है.

कंप्यूटर में घुसा हुई वायरस फाइल पुरे सिस्टम को लॉक कर देती है, और फिर ये तब तक एक्सेस नहीं किया जा सकता जब तक इसकी मांग पूरी न कर दी जाए. दरअसल सिस्टम को अनलॉक करने के हैकर पैसे मांगता है, जिसे चुकाए बिना यूज़र सिस्टम पर कोई काम नहीं कर सकता है.

(ये भी पढ़ें-  काफी सस्ता मिल रहा है Vivo का 8GB RAM वाला दमदार स्मार्टफोन, मिलेगा 64 मेगापिक्सल कैमरा)

पैसे लेने के लिए हैकर यूज़र के सिस्टम पर एक मैसेज पॉप-अप करता है, जिसपर लिखा होता है, ‘Pay to Unlock’. फिरौती की रकम हैकर Cryptocurrency के रूप में लेते हैं, जिससे कि यूज़र को हैकर बैंक अकाउंट का भी पता नहीं चल पाता है.

इस तरह का कंप्यूटर वायरस इतना खतरनाक होता है की यूज़र किसी भी तरीके से अपने ज़रूरी डेटा को फिर से नहीं पा सकते हैं. वायरस अटैक ज्यादातर बड़ी-बड़ी कंपनियों और सरकारी दफ्तरों के डिवाइस पर किया जाता है जिससे उनके डेटा को चुराकर और उनके काम को रोक कर उनसे फिरौती की बड़ी रकम मांगी जा सके. आइए हम आपको बताते हैं कि कैसे आप रैनसमवेयर अटैक से बच सकते हैं…

Data Backup रखें

ज़रूरी है कि आप हमेशा अपने डेटा का बैकअप लेते रहें. सलाह दी जाती है कि आप अपने ज़रूरी डॉक्यूमेंट है उन्हें क्लाउड स्टोरेज और एकस्टर्नल डिवाइस में सेफ रखें. हालांकि बैकअप के लिए गूगल ड्राइव, वन ड्राइव जैसी सर्विस बेस्ट है.

(ये भी पढ़ें- जल्दी खत्म होती है Battery तो आज ही बदल लें फोन की ये Settings, काम होगा आसान)

अनजान Email पर क्लिक न करें

किसी अनजान सोर्स से आए ईमेल को ना खोले या इन ईमेल में दिए लिंक पर क्लिक ना करें, क्योंकि एक तरह का स्पैम होता है, औक ऐसे ईमेल खतरनाक होते हैं, जिससे वायरस आने का खतरा बढ़ जाता है.

Anti-Spam Settings चेंज करें

ज्यादातर Ransomware Malwares को ईमेल के ज़रिए .exe, .vbs, या .scr files में भेजा जाता है. जैसे ही कोई यूज़र उस File को ओपेन करता है, उसका सिस्टम हैक हो जाता है.

बेकार Files को Open ना करें

अपने ईमेल पर ऑनलाइन किसी भी अनजान फाइल को डाउनलोड या ओपेन ना करें. इससे रैनसमवेयर अटैक होने का खतरा बढ़ जाता है.

Banking वाले Email पर सावधान रहें

जिन ईमेल में आपकी बैंकिंग से जुड़ी जानकारियां मौजूद हों, और आपको कोई ऐसी लिंक मिले जो देखने में स्पैम लग रही हो, तो ऐसे Links पर कभी भी क्लिक ना करें.

सिस्टम के ज़रूरी सॉफ्टवेयर से Update रखें

ध्यान रहे कि अपने कंप्यूटर के कुछ ज़रूरी सॉफ्टवेयर को हमेशा अपडेट करते रहें.

File sharing System को Disable रखें

फाइल शेयरिंग सिस्टम को भी Disable रखें, जिससे कि बिना Admin की परमिशन से कोई भी फाइल एक जगह से दूसरे जगह ट्रांसफर न हो सके.

अनजान IP Address को Block करें

अपने WiFi या टेलिकॉम नेटवर्क पर किसी भी अनजान IP एड्रेस को ब्लॉक करें, जिससे कि किसी तरह की हैकिंग न की जा सके.

Pop-Up बंद रखें

अपने वेब ब्राउज़र को रैनसमवेयर अटैक से बचाने के लिए सिस्टम के Pop-up को हमेशा बंद रखें. इसके लिए अपने कंप्युटर और स्मार्टफोन के वेब ब्राउज़र के Settings में जाकर पॉप-अप ऑप्शन को Block करके रखें.

Firewall को ON रखें

ध्यान रहे कि अपने Windows के Firewall को हमेशा ON रखें ताकि वह सही से काम करें. हर किसी कंप्यूटर में Firewall का काम इंटरनेट पर आने-जाने वाले ट्राफिक की जांच करना होता है. इससे वायरस वाले सॉफ्टवेयर फिल्टर हो जाते हैं और फायरवॉल उन्हें चलने नहीं देता है. इसके अलावा ये इस बात की भी पुष्टि करता है की कौन सा नेटवर्क Trusted है और कौन सा Untrusted है.



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here