LJP में टूट के बीच रामविलास पासवान पर अधिकार की मची होड़, चिराग के बाद अब पारस खेमे ने भी पीएम मोदी से की रामविलास को भारत रत्न देने की मांग

नई दिल्ली। लोक जनशक्ति पार्टी ( LJP ) में हुई टूट के बाद अब बर्चस्व की लड़ाई तेज हो गई है। चाचा-भतीजा यानी चिराग ( Chirag Paswan ) और पारस ( Pashupati Paras ) खेमा खेमा जहां पार्टी पर अपनी पकड़ मजबूत करने में जुटा है वहीं दूसरी तरफ रामविलास पासवान ( Ramvilas Paswan ) पर भी अधिकार को लेकर भी होड़ मच गई है। चिराग के साथ तनाव के बीच चाचा पारस ने बड़ा दांव चला है।

पारस ने पीएम मोदी ने रामविलास पासवान को भारत रत्न देने की मांग की है। हालांकि पारस पहले नहीं जिन्होंने रामविलास को लेकर ये मांग की है। चिराग पहले ही ये मांग कर चुके हैं।

यह भी पढ़ेँः दिल्ली दरबार सुस्त! अटके पड़े हैं भाजपा और कांग्रेस नेताओं के मामले

दरअसल आगामी पांच जुलाई को रामविलास पासवान की जयंती है। यही वजह है कि दोनों खेमों की ओर से रामविलास को भारत रत्न दिए जाने की मांग की जा रही है। लोजपा में टूट के बाद अब दोनों खेमा रामविलास पासवान के उपर अपना अधिकार जमाने में लगे हैं।

पशुपति पारस ने चिराग को अलग करके बागी होने की वजह रामविलास पासवान के सपनों का लोजपा बनाने की बताई थी। उन्होंने कहा था कि वे रामविलास पासवान के सपना का लोजपा बनाने और बचाने के लिए चिराग के बाहर कर रहे हैं।

हालांकि चिराग ने भी पूरे दावे के साथ रामविलास पासवान के ही फैसले को अपना फैसला बताया। चाचा की बगावत के बीच दिल्ली में जब चिराग ने अपने समर्थकों से बातचीत की थी उसी दौरान उन्होंने भी पिता रामविलास पासवान को भारत रत्न देने की मांग की थी।

पारस खेमे की ये भी है मांग
एलजेपी के पारस खेमे ने यह भी मांग की है कि पटना या हाजीपुर में रामविलास की आदमकद प्रतिमा लगाई जाए।

रामविलास की जयंती मनाने में भी होड़
लोजपा में चल रही गुटबाजी और रामविलास पासवान की जयंती पर केंद्रीय हो गई है। 5 जुलाई को आ रही इस जयंती से पहले दोनों खेमों ने तैयारियां शुरू कर दी हैं।

यह भी पढ़ेँः शशि थरूर ने सीखा अंग्रेजी का नया शब्द Pogonotrophy, मतलब समझाते हुए पीएम मोदी से किया कनेक्ट

चिराग पासवान जहां दलित बस्ती में पिता रामविलास पासवान की जयंती मनाने की तैयारी कर रहे हैं। जमुई के सांसद चिराग ने हाजीपुर के पास एक दलित बस्ती सुल्तानपुर में एक समारोह आयोजित करने की घोषणा की है।

वहीं पारस खेमा रामविलास की जयंती को पार्टी कार्यालय पर धूमधाम से मनाने में जुटा है। इतना ही नहीं पारस खेमा ये भी चाहता है कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार रामविलास को भारत रत्न देने की सिफारिश करते हुए केंद्र को एक प्रस्ताव भेजें।





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here