नई दिल्ली. Apple (एप्पल) के सीईओ टिम कुक ने कल Viva टेक सम्मेलन में एक इंटरव्यू के लिए बैठे थे. इस सम्मेलन को यूरोप का ‘सबसे बड़ा स्टार्टअप और तकनीकी कार्यक्रम’ माना जाता है. 30 मिनट की बातचीत के दौरान, Apple के सीईओ ने प्राइवेसी के लिए Apple की प्रतिबद्धता, ऑगमेंटेड रियलिटी (AR) के भविष्य, आईओएस कैसे एंड्रॉइड से अलग है, और भी बहुत कुछ बातों पर चर्चा की.

आईओएस और एंड्रॉइड के विषय पर, कुक ने कहा कि एंड्रॉइड में आईओएस की तुलना में 47 गुना अधिक मालवेयर है.

कुक को “GAFA’ पसंद नहीं 

प्राइवेसी पर अधिक चर्चा करते हुए कुक ने कहा कि, Apple एक दशक से अधिक समय से प्राइवेसी पर को ज्यादा से ज्यादा बेहतर बनाने के लिए काम कर रहा है. कुक ने इस इंटरव्यू में “GAFA’ पर भी बात की, जो कि फ्रांस में इस्तेमाल किया जाने वाला एक संक्षिप्त शब्द Google, Apple, Facebook और Amazon को एक साथ जोड़ता है. कुक ने कहा कि उन्हें यह संक्षिप्त नाम पसंद नहीं है, क्योंकि सभी कंपनियों के अलग-अलग व्यवसाय मॉडल और अलग-अलग मूल्य हैं.

यह भी पढ़ें- Gratuity क्या होती है? इसका पैसा कैसे कैलकुलेट होता है, जानिए सबकुछ विस्तार से

एंड्रॉइड में आईओएस से 47 गुना अधिक मालवेयर

कुक ने यूरोप के जीडीपीआर और एंड्रॉइड के बारे में बोलने से पहले आईफोन पर साइडलोडिंग के विचार के बारे में बात की. कुक ने कहा कि एंड्रॉइड में आईओएस से 47 गुना अधिक मैलवेयर है. उन्होंने कहा कि ऐसा इसलिए है, क्योंकि iPhone पर कोई साइडलोडिंग नहीं है. हमने आईओएस को इस तरह से डिजाइन किया है कि एप के लिए एक ही स्टोर है और स्टोर पर जाने से पहले सभी एप को रिव्यू किया जाता है.

यह भी पढ़ें- Covid-19 के सबक: वसीयत बनाएं, ताकि आपके बाद अपनों को हक पाने में ना हो कोई परेशानी

अपनी चर्चा के दौरान टिम कुक ने एप्पल से जुड़े कई और विषयों पर बात की. उन्होंने एप्पल के प्राइवेसी के लिए किये गए प्रयासों के बारे में बात की, जिसे वह ऐप्पल, AR और AI के भविष्य के रूप में देखते हैं. इसके साथ ही उन्होंने हेल्थकेयर तकनीक, एप्पल की विफलताओं, एप्पल कार और COVID-19 महामारी जैसे विषयों पर चर्चा की.



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here