प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को अपने दूसरे कार्यकाल में मंत्रिमंडल का विस्तार करते हुए देश के 25 राज्यों के 43 सांसदों को स्थान दिया। लेकिन इनमें सर्वाधिक संख्या उत्तर प्रदेश के सांसदों की है।

नई दिल्ली। बाबा विश्वनाथ के लोकसभा क्षेत्र से आने वाले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने दूसरे कार्यकाल में दूसरी बार मंत्रिमंडल में फेरबदल किया। पीएम मोदी की नई कैबिनेट को अगर गौर से देखें, तो यह साफ पता चल जाएगा कि इस पर बाबा विश्वनाथ का आशीर्वाद है और इस वजह से ही इसमें सबसे ज्यादा मंत्री उत्तर प्रदेश से हैं।

Must Read: पीएम मोदी ने बदली प्राथमिकताएं, नई कैबिनेट में किया इन 3 बातों को शामिल

दरअसल, मोदी सरकार 2.0 में सबसे ज्यादा जलवा उत्तर प्रदेश का ही देखने को मिलता है। नई कैबिनेट में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत यहां कुल 15 लोग उत्तर प्रदेस का प्रतिनिधित्व करते दिखाई दे रहे हैं। यह बात देश के सर्वाधिक आबादी वाले प्रदेश के लिए काफी महत्वपूर्ण हो जाती है।

बताया जाता है कि देश में संभवता पहली बार ऐसा हुआ है कि किसी प्रदेश से इतनी बड़ी संख्या में लोग केंद्रीय मंत्रिमंडल में शामिल किए गए हैं। वाराणसी से सांसद नरेंद्र मोदी स्वयं देश के प्रधानमंत्री हैं और खुद भी यूपी से आते हैं। इसके अलावा लखनऊ के सांसद और देश के रक्षामंत्री राजनाथ सिंह भी इसी प्रदेश से आते हैं।

मोदी सरकार में शामिल कौशल विकास मंत्री व चंदौली लोकसभा क्षेत्र के सांसद महेंद्र पांडेय भी इसी प्रदेश का प्रतिनिधित्व करते हैं। जबकि अमेठी की सांसद स्मृति ईरानी भी इसी राज्य से कैबिनेट में मौजूद हैं। गाजियाबाद के सांसद और पूर्व सेना प्रमुख जनरल वीके सिंह को नई कैबिनेट में सड़क परिवहन राज्यमंत्री बनाया गया है।

Must Read: नई मोदी कैबिनेट में देखने को मिले 5 बड़े सरप्राइज, हर कोई रह गया हैरान

वहीं, मुजफ्फर नगर के सांसद संजीव बालियान को पीएम मोदी की नई कैबिनेट में राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार नियुक्त किया गया है। इसके अलावा फतेहपुर की सांसद साध्वी निरंजन ज्योति भी उत्तर प्रदेश से आती हैं, जिन्हें नए मंत्रिमंडल में स्थान दिया गया है।

जबकि राज्यसभा सदस्य हरदीप सिंह पुरी को राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) बनाकर नगरीय विकास और नागरिक उड्डयन जैसे दो महत्वपूर्ण मंत्रालय की जिम्मेदारी दी गई है।

दूसरी तरफ, मोदी 2.0 सरकार के पहले मंत्रिमंडल विस्तार में बुधवार को पूर्व केंद्रीय मंत्री संतोष गंगवार से इस्तीफा ले लिया गया। जबकि हरदीप सिंह पुरी की पदोन्नति करके उन्हें कैबिनेट मंत्री बना दिया गया।

इसके अलावा अपना दल (एस) की अनुप्रिया पटेल तो मोहनलाल गंज के सांसद कौशल किशोर, आगरा के सांसद डॉ. एसपी सिंह बघेल, लखीमपुर खीरी के सांसद अजय मिश्र टेनी, महाराजगंज के सांसद पंकज चौधरी, जालौन के सांसद भानुप्रताप वर्मा और राज्यसभा सांसद बीएल वर्मा को राज्यमंत्री के रूप में मंत्रिमंडल में शामिल किए जाने की शपथ दिलाई गई।













Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here