पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के बेटे अभिजीत बनर्जी ने कांग्रेस छोड़ तृणमूल कांग्रेस का दामन थाम लिया। कोलकाता में आय़ोजित एक कार्यक्रम में अभिजीत मुखर्जी ने टीएमसी नेता पार्था चटर्जी की मौजूदगी में सदस्यता ग्रहण की।

कोलकाता। पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में करारी हार के बाद कांग्रेस को एक और बड़ा झटका लगा है। दरअसल, पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के बेटे अभिजीत बनर्जी ने कांग्रेस छोड़ तृणमूल कांग्रेस का दामन थाम लिया। कोलकाता में आय़ोजित एक कार्यक्रम में अभिजीत मुखर्जी ने टीएमसी नेता पार्था चटर्जी की मौजूदगी में सदस्यता ग्रहण की। इस दौरान सुदीप बंदोपाध्याय भी मौजूद रहे। उन्होंने अभिजीत मुखर्जी को शॉल ओढ़ाकर उनका स्वागत किया।

पार्था ने कहा कि अभिजीत मुखर्जी ने टीएमसी में शामिल होने की इच्छा जताई थी। अभिजीत ने अपनी इच्छा अभिषेक बनर्जी के पास व्यक्त की थी और आज वे टीएमसी में शामिल हो गए। हम सब अभिजीत को पार्टी में स्वागत करते हैं।

यह भी पढ़ें :- चुनाव के बाद हिंसा: ममता सरकार को झटका, HC का आदेश- सभी पीड़ितों के केस दर्ज हों, इलाज-राशन भी दिया जाए

टीएमसी नेता पार्था चटर्जी ने आगे कहा कि हम सब को उम्मीद है कि अभिजीत अपने पारिवारिक विरासत को लेकर आ रहे हैं और वे देश को बीजेपी मुक्त वातावरण बनाने में मदद करेंगे।

बहन शर्मिष्ठा ने जताई नाराजगी

अभिजीत मुखर्जी के कांग्रेस छोड़ टीएमसी में शामिल होने पर बहन शर्मिष्ठा मुखर्जी ने नाराजगी जाहिर की है। उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा ‘SAD’। बता दें कि अभिजीत और शर्मिष्ठा के बीच कुछ दिनों से पिता प्रणब मुखर्जी को लेकर विवाद चल रहा है।

अभिजीत ने सीएम ममता बनर्जी और अभिषेक को का शुक्रिया

टीएमसी में शामिल होने के बाद अभिजीत ने सीएम ममता बनर्जी की जमकर तारीफ की। उन्होंने इस मौके पर सीएम ममता बनर्जी और अभिषेक बनर्जी को धन्यवाद दिया और कहा कि मैं दीदी और अभिषेक के निर्देश पर यहां आया हूं। अभिजीत ने आगे कहा कि काफी पहले एक युवा के तौर पर वे अपने माता-पिता के साथ पार्था चटर्जी से मिले हैं।

उन्होंने कहा कि जब प्रदेश में लेफ्ट के खिलाफ माहौल था और ममता दीदी उसको लीड कर रही थीं तब मैं सरकारी नौकरी छोड़कर कांग्रेस में शामिल हुआ था। अब भाजपा के धार्मिक एजेंडे के रथ को दीदी ने और अभिषेक ने रोक दिया है। वो पूरे भारत में संघर्ष करेंगी और जीतेंगी।





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here