नवजोत सिंह सिद्धू की पत्नी नवजोत कौर ने शिरोमणि अकाली दल पर पलटवार करते हुए सुखबीर सिंह बादल पर हमला बोला है। उन्होंने कहा कि उनकी तरह हमारे पास गैरकानूनी ढंग से कमाई हुई आय नहीं है, बल्कि हमारी कमाई मेहनत की है।

नई दिल्ली। पिछले कुछ दिनों पंजाब में बिजली कट को लेकर राजनीतिक गर्माई हुई है। शिरोमणि अकाली दल ने कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू के कथित बिजली बिल बकाए को लेकर निशाना साधा था। इसके बाद आज रविवार को नवजोत सिंह सिद्धू की पत्नी नवजोत कौर ने शिरोमणि अकाली दल पर पलटवार करते हुए सुखबीर सिंह बादल पर हमला बोला है। पूर्व विधायक नवजोत कौर सिद्धू सोशल मीडिया पर एक वीडियो शेयर कर अपने पति पर लग रहे आरोपों के बारे में सफाई दी।

 

यह भी पढ़ें : Uttarakhand New CM: पुष्कर सिंह धामी ने राजभवन में पेश किया सरकार बनाने का दावा, रविवार को लेंगे शपथ

हम इज्जत से कमाई रोटी खाते हैं
नवजोत कौर ने कहा है कि हमारे घर का ज्यादा बिजली का बिल आने के बाद पावरकॉम में जांच के लिए अपील की थी। जांच के बाद जो बिल आएंगे उसे भरेंगे। सुखबीर सिंह बादल पर हमला बोलते हुए उन्होंने कहा कि उनकी तरह हमारे पास गैरकानूनी ढंग से कमाई हुई आय नहीं है, बल्कि हमारी कमाई मेहनत की है। उन्होंने कहा कि उनके पति नवजोत सिंह इज्जत से कमाई रोती खाते हैं। अपनी तनख्वाह से ही गुजारा करते है। सिद्धू बिल को हमेशा अपनी जेब से ही भरते है। इतना ही नहीं बीमारी का इलाज और कहीं घूमने जाना हो, उसका खर्चा खुद उठाते है।

बादल तो इलाज भी सरकारी खर्च पर कराते हैं
सिद्धू की पत्नी ने आरोप लगाया कि सुखबीर सिंह बादल और अन्य ने अपने इलाज और यहां तक कि निजी प्रोग्राम भी सरकारी खर्चे पर ही किए हैं। इसलिए सुखबीर बादल उनके बिजली बिल की फिक्र छोड़कर अपनी तरफ झांकें। उन्होंने आगे कहा कि कोरोना काल में जरूरतमंदों को राशन आदि सिद्धू परिवार की ओर से जेब से पैसे खर्च करके दिया गया। साथ ही शहीद ऊधम सिंह के पैतृक घर का बिजली बिल भरा गया और अमृतसर को डेढ़ करोड़ रुपए भी अपनी तरफ से ही दिए गए थे।

यह भी पढ़ें : उत्तराखंड के सीएम घोषित किए जाने पर बोले पुष्कर सिंह धामी- मेरी मां की तरह है BJP

 

सिद्धू का बिजली बिल 8 लाख से ऊपर
आपको बता दें कि पंजाब राज्य विद्युत निगम लिमिटेड (पीएसपीसीएल) की वेबसाइट के अनुसार, अमृतसर स्थित सिद्धू के घर का बिजली बिल 8 लाख 67 हजार 540 हो गया है जो अब तक जमा नहीं किया गया है। यह बिल जमा करने की आखिरी तारीख दो जुलाई थी। सिद्धू का बिजली बिल बकाया की बात सामने आने के बाद राजनीतिक गलियारों में काफी हलचल पैदा हो गई है।











Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here