नई दिल्ली। कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने हाल ही में महंगाई हटाओ रैली में हिंदुत्व को लेकर बयान दिया था। वहीं अब कांग्रेस नेता के इस बयान पर बीजेपी उनपर हमलावर नजर आ रही है। अब बीजेपी के राज्यसभा सांसद राकेश सिन्हा ने राहुल गांधी के हिंदू और हिंदुत्ववाद के बयान पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि अगर हिंदुत्ववाद 40 के दशक में मजबूत होता तो भारत का विभाजन नहीं होता। भारत में हिंदुत्ववाद नहीं था, यही वजह है कि हिंदुओं की संख्या घटती गई और भारत का क्षेत्रफल कम होता गया। इसके साथ ही भारत की संस्कृति से भी खिलवाड़ किया गया यही नहीं इसे खत्म करने की कोशिश की गई। उनका कहना है कि हिंदुत्ववाद भारत की संकीर्णता का प्रतीक नहीं है। इस दौरान उन्होंने भी हिंदुत्ववाद का अर्थ समझाया, भाजपा नेता ने कहा कि हिंदुत्ववाद का मतलब होता है सर्व समावेशी यानि सबको बराबर का अवसर और स्थान देना। हिंदुत्व का अर्थ है अपनी संस्कृति सभ्यता और अस्मिता की रक्षा करना। इसके साथ ही उन्होंने कांग्रेस और राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए कहा कि कुछ लोग जो हिंदुत्व की रक्षा करने में असमर्थ हैं, वह हिंदुत्व को नहीं समझते।

इस दौरान राकेश सिन्हा ने राहुल गांधी द्वारा गांधी और गोडसे का जिक्र करने पर भी आपत्ति जताई है। उनका कहना है कि राहुल गांधी को महात्मा गांधी के बारे में पढ़ने की जरूरत है, अगर वो गांधी के बारे में पढ़ने तो भविष्य में ऐसे बयान देने से बचेंगे। उन्होंने बताया कि महात्मा गांधी ने अपने ही पुत्र हीरालाल गांधी का धर्म परिवर्तन का विरोध किया था, वहीं राहुल गांधी तो आज धर्म परिवर्तन करने वालों के साथ खड़े हैं। अगर राहुल गांधी का वश चले तो भारत में वेटिकन का शासन होगा।

बता दें कि कल हैदराबाद से सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने भी राहुल गांधी के बयान पर आपत्ति जाहिर की थी। ओवैसी ने राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए कहा कि भारत केवल हिंदुओं का नहीं बल्कि हर भारतीय का है। ओवैसी ने कांग्रेस के सेक्युलरिजम पर तंज कसते हुए पूछा कि हिंदुओं को सत्ता में लाना कैसे सेक्युलर अजेंटा हो सकता है। असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि राहुल और कांग्रेस ने हिंदुत्व की जमीन को उपजाऊ बनाया है और अब वे बहुसंख्यकवाद की फसल काटने की कोशिश कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें: आज आप या तो मोदी भक्त को नहीं तो राहुल गांधी के समर्थक, इस सोच का विपक्ष को हो रहा नुकसान: प्रशांत किशोर

गौरतलब है कि महंगाई हटाओ रैली में कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने हिंदू और हिंदुत्व का फर्क बताया था। उन्होंने कहा कि हिंदू वह है जो सभी धर्मों का सम्मान करता है, सभी को गले लगाता है और किसी से नहीं डरता। इस दौरान उन्होंने गांधी और गोडसे का भी जिक्र किया, राहुल ने कहा कि महात्मा गांधी हिंदू थे जबकि गोडसे हिंदुत्ववादी। उन्होंने महंगाई के लिए हिंदुत्ववादियों को जिम्मेदार ठहराते हुए कहा कि इन्हें हर कीमत पर सत्ता चाहिए।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here