देश में ऑक्सीजन (Oxygen) की कमी के कारण हज़ारों लोगों की मौत हुई लेकिन सरकारी फाइलों में उन मौतों के आंकड़े नहीं हैं, भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा (Sambit Patra) ने इसका खुलासा किया।

नई दिल्ली। ऑक्सीजन की किल्लत से देश में हज़ारों मौतें हुई हैं लेकिन सरकारी आंकड़ों में उन मौतों की संख्या दर्ज नहीं है। बता दें कि ऑक्सीजन से देश में किसी की मौत नहीं होने वाले सरकार के संसद में दिए बयान पर विपक्षी दलों ने पलटवार किया था। सरकार ने बुधवार को कहा कि किसी भी राज्य सरकार ने ऑक्सीजन की कमी के कारण होने वाली मौतों पर कोई डेटा नहीं भेजा है।

Read More: ऑक्सीजन आपकी जेब में, आर्आईटी कानपुर ने बनायी ऑक्सीराइज, कीमत सिर्फ 499 रुपये है दाम

भारतीय जनता पार्टी ने कोरोना से हुई मौतों पर कथित राजनीति करने के लिए कांग्रेस नेता राहुल गांधी और विपक्षी दलों की भी आलोचना की। भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा (Sambit Patra) ने एक प्रेस कांफ्रेंस को संबोधित करते हुए कहा, “किसी भी राज्य ने ऑक्सीजन की कमी से होने वाली मौतों पर कोई डेटा नहीं भेजा है और ना ही किसी राज्य ने ऑक्सीजन की कमी के कारण किसी की मौत की सूचना नहीं दी है।”

स्वास्थ्य राज्य का विषय है: पात्रा
राज्यसभा में केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री भारती प्रवीण पवार के जवाब का जिक्र करते हुए पात्रा ने कहा, “मंत्री जी ने स्पष्ट रूप से कहा कि स्वास्थ्य राज्य का विषय है, केंद्र केवल राज्यों द्वारा भेजे गए डेटा को एकत्र करता है और मौतों की रिपोर्ट करने के लिए दिशानिर्देश जारी किए जाते हैं। राज्य और केंद्र शासित प्रदेश केंद्र को नियमित आधार पर कोविड के मामलों और मौतों का डेटा प्रदान करते हैं। हालांकि, एक भी राज्य या केंद्रशासित प्रदेश ने अपनी रिपोर्ट में ऑक्सीजन की कमी के कारण किसी भी मौत का उल्लेख नहीं किया है।”

Read More: ऑक्सीजन की कमी से कोई मौत नहीं हुई, केंद्र सरकार के बयान पर भड़की प्रियंका गांधी

राहुल गांधी और आम आदमी पार्टी पर साधा निशाना

संबित पात्रा ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी और आम आदमी पार्टी पर हमला बोलते हुए कहा कि, “यह निंदनीय है कि ऐसे समय में जब सभी को कोरोना वायरस बीमारी के खिलाफ लड़ाई जीतने के लिए एकजुट होना चाहिए, कुछ नेता गंदी राजनीति कर रहे हैं।”
कांग्रेस नेता राहुल गांधी को ट्विटर ट्रोल बताते हुए पात्रा ने कहा, “चाहे महामारी हो या वैक्सीन का मुद्दा, उन्होंने झूठ बोला और हर विषय पर भ्रम फैलाया। राहुल गांधी ने ट्विटर ट्रोल के रूप में काम करते हुए यही किया है।”
पात्रा ने दिल्ली और महाराष्ट्र सरकारों के हलफनामों का हवाला देते हुए कहा कि दोनों प्रशासनों ने उच्च न्यायालयों को सूचित किया कि एक भी मौत ऑक्सीजन की कमी के कारण नहीं हुई है।





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here