नई दिल्ली. माइक्रोसॉफ्ट ने विंडोज यूजर्स को एक अनपेक्षित महत्वपूर्ण बग की चेतावनी दी है जो हैकर्स को उनके सिस्टम पर हैकिंग प्रोग्राम इंस्टॉल करने दे सकता है. विंडोज प्रिंट स्पूलर सर्विस में जो बग मिला है उसे ‘प्रिंटनाइटमेयर’ कहा जा रहा है. शोधकर्ताओं ने खुलासा किया है कि बग ‘प्रिंटनघमारे’ का फायदा हैकर्स एक यूजर सिस्टम पर नियंत्रण हासिल करने के लिए उठा सकते हैं. हालांकि Microsoft ने अभी तक भेद्यता का मूल्यांकन नहीं किया है, लेकिन स्वीकार किया है कि हानिकारक बग विंडोज के सभी संस्करणों में उपलब्ध है.

ब्लीपिंगकंप्यूटर की रिपोर्ट के अनुसार, माइक्रोसॉफ्ट को बग को स्वीकार करने में कुछ दिन लगे, लेकिन अब यह ग्राहकों को चेतावनी दे रहा है कि हैकर्स द्वारा बग का फायदा उठाया जा रहा है. साइबर अपराधी दुर्भावनापूर्ण प्रोग्राम स्थापित करते हैं, व्यवस्थापक अधिकार प्राप्त करते हैं, डेटा बदलते हैं और व्यवस्थापक अधिकारों का उपयोग करके नए खाते बनाते हैं.

समस्या को ठीक करने में काम कर रहा है 

माइक्रोसॉफ्ट  अभी इस समस्या को ठीक करने के लिए काम कर रहा है लेकिन तब तक कंपनी ने यूजर्स को Windows Print Spooler सेवा के लिए कहा है. साइबर सुरक्षा और बुनियादी ढांचा एजेंसी ने एडमिनिस्ट्रेटर को डोमेन नियंत्रकों और उन प्रणालियों में विंडोज प्रिंट स्पूलर सेवा को डिसेबल करने के लिए प्रोत्साहित किया है जो प्रिंट नहीं करते हैं. “एक्सपोज़र की संभावना के कारण, डोमेन नियंत्रक और सक्रिय निर्देशिका व्यवस्थापक सिस्टम को प्रिंट स्पूलर सेवा अक्षम करने की आवश्यकता है.

ये भी पढ़ें – RBI Data: बैंक कर्ज में 5.82 फीसदी की बढ़ोतरी, 10.32 फीसदी बढ़ा जमा धन

इन एजेंसी ने खोजा खतरा 
माइक्रोसॉफ्ट ने अपने विंडोज यूजर्स को प्रिंटस्पूलर सर्विस जिसे प्रिंट नाइटमेयर भी कहते है से सावधान रहने को कहा है. इससे होने वाले खतरे की खोज तीन अलग-अलग सुरक्षा एजेंसियों, अर्थात् Tencent, AFINE और NSFOCUS द्वारा की गई थी. यह ब्लीपिंग कंप्यूटर द्वारा रिपोर्ट किया गया था. एक अन्य चीनी कंपनी, जिसे सेंगफोर कहा जाता है, ने प्रिंटनाइटमेयर को लेकर एक राइटअप भी लिखा है. पब्लिशर ने ‘प्रिंटस्पूलर’ सर्विस को रोकने और डिसेबल करने की सलाह दी गई है क्योंकि यह वायरस का प्राथमिक स्रोत प्रतीत होता है और सर्विस के जरिए सर्वर तक सिस्टम तक पहुंच की अनुमति देता है. माइक्रोसॉफ्ट ने खतरे के लिए आधिकारिक पैच जारी नहीं किया है.



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here