नई दिल्ली। बिहार की राजनीति में इन दिनों शराबबंदी बड़ा मुद्दा बना हुआ है। सरकार राज्य से शराब के कारोबार को खत्म करने के दावे कर रही है। वहीं विपक्ष इस मुद्दे को लेकर नीतीश सरकार पर हमलावर है। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार शराबबंदी अभियान को लेकर बिहार यात्रा कर रहे हैं, जिसको लेकर भी सियासत तेज हो गई है। राज्य की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी ने नीतीश कुमार की इस बिहार यात्रा पर तंज कसा है। उन्होंने कहा कि सीएम को राज्य की महिलाएं शराबबंदी की जमीनी हकीकत बताएंगी।

महिलाएं बताएंगी शराबबंदी की असलियत
राबड़ी देवी ने कहा कि सीएम बिहार भर की यात्रा कर रहे हैं, ये अच्छी बात है। लेकिन जब सीएम गांव में पहुंचे तो महिलाओं से शराबबंदी की जमीनी हकीकत जान लें। सीएम महिलाओं से जरूर पूछे कि उनके पति शराब पीते हैं या नहीं। क्योंकि महिलाएं ही बेहतर तरीके से बता सकती हैं कि बिहार में शराबबंदी की क्या स्थिति है।

इस दौरान बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री ने राज्य की कानून व्यवस्था और बढ़ते अपराध को लेकर भी सरकार पर सवाल खड़े किए। उन्होंने कहा कि नीति आयोग की रिपोर्ट में बिहार की असल तस्वीर सामने आई है, लेकिन सीएम को जरा भी फर्क नहीं पड़ता। बिहार की बदहाली के लिए नीतीश सरकार ही जिम्मेदार है।

यह भी पढ़ें: रद्द हो गए तीनों कृषि कानून, दोनों सदनों से हरी झंडी के बाद अब राष्ट्रपति ने भी लगाई मुहर

राबड़ी देवी ने हाल ही में बिहार विधानसभा परिसर में मिलीं शराब की बोतलों का मुद्दा भी उठाया। उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार बिहार में शराबबंदी का दावा करते हैं, लेकिन विधानसभा परिसर से शराब की बोतलें मिल रही हैं। राज्य के डीजीपी बोतल खोजने में लगे हैं और बिहार सरकार सिर्फ बयान दे रही है। बता दें कि इससे पहले तेजस्वी यादव समेत कई नेता विधानसभा परिसर में शराब मिलने का मुद्दा उठा चुके हैं।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here