नवजोत सिंह सिद्धू मंगलवार को दिल्ली में थे, ऐसा माना जा रहा था कि आज ही राहुल से उनके आवास पर उनकी मुलाकात होनी थी।

नई दिल्ली। पंजाब में जारी राजनीतिक घमासान के बीच कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने आज ये साफ कर दिया कि नवजोत सिंह सिद्धू के संग उनकी कोई बैठक नहीं हुई है। सिद्धू मंगलवार को दिल्ली में थे, ऐसा माना जा रहा था कि आज ही राहुल से उनके आवास पर उनकी मुलाकात होगी।

सिद्धू से आज मुलाकात की संभावना के बीच कांग्रेस नेता शाम को अपनी मां और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से मिलने उनके आवास 10 जनपथ पर चले गए थे। हालांकि राहुल गांधी और सिद्धू के बीच अभी मुलाकात को लेकर कोई भी कार्यक्रम तय नहीं है, लेकिन ऐसा कहा जा रहा है कि दोनों नेताओं के बीच अब कल यानी बुधवार को मुलाकात हो सकती है।

Read More: पीएम मोदी ने सुरक्षा के मुद्दे पर की हाईलेवल मीटिंग, भविष्य की चुनौतियों और तैयारियों पर रहा फोकस

आज ही पटियाला से दिल्ली पहुंचे सिद्धू

सिद्धू आज दिन में राहुल गांधी से मुलाकात करने के लिए पंजाब के पटियाला में मौजूद अपने घर से निकले थे। मगर सिद्धू के साथ मुलाकात को लेकर 10 जनपथ के लिए रवाना होने से पहले राहुल गांधी ने कहा कि नवजोत सिंह सिद्धू के साथ कोई बैठक नहीं हुई है। माना जा रहा है कि सिद्धू कांग्रेस सांसद राहुल गांधी के अलावा पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा से भी मुलाकात कर सकते हैं।

गौरतलब है कि पंजाब में अगले साल विधानसभा चुनाव होने वाले है। इससे पहले अंदरूनी कलह को खत्म करने के लिए पिछले दिनों सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने राज्यसभा में विपक्ष के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे की अध्यक्षता वाली समिति से मुलाकात की थी। कैप्टन ने इस दौरान हर मुद्दे को लेकर अपना पक्ष रखा।

सोनिया गांधी ने एक समिति का गठन किया

बीते कई दिनों से पंजाब कांग्रेस में कई मुद्दों को लेकर घमासान जारी है। कई नेता शिकायत को लेकर दिल्ली तक पहुंच गए थे। इसके बाद कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने एक समिति का गठन कर समस्याओं का हल निकालने को कहा। इस दौरान कैप्टन ने कहा था कि सरकार और संगठन में किसी भी तरह के फेरबदल को लेकर वे तैयार हैं, मगर सत्ता में दो धड़े उन्हें मंजूर नहीं हैं।

Read More: तो इस वजह से केजरीवाल ने दिल्ली में 200 जबकि पंजाब में 300 यूनिट तक फ्री में बिजली देने का किया वादा

आप से जुड़े सकते हैं सिद्धू

सिद्धू के पार्टी छोड़ने की भी अटकलें लगाईं जा रही हैं। ऐसा कहा जा रहा है कि वे आप पार्टी में शामिल हो सकते हैं। सिद्धू बीते एक साल से पार्टी से दूरी बनाए रखें हैं। उन्होंने बीच-बीच में अपनी मांगें आलाकमान के सामने रखीं हैं। मगर अभी तक उन्हें आश्वासन ही मिल रहा है।





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here