नई दिल्ली. एक तरफ जहां पबजी (Pubji) का इंडियन अवतार बैटलग्राउंट मोबाइल (Battlegrounds Mobile India) को भारत में लॉन्च करने की तैयारी चल रही है वहीं दूसरी ओर भारतीय सांसदों और नेताओं ने इसे बैन करने की मांग की है. तेलंगाना के सांसद धर्मपुरी अरविंद, गढ़चिरौली के सांसद अशोक नेटे, राष्ट्रीय प्रवक्ता सुरेश नखुआ जैसे कई नेताओं ने चीन के Tencent के साथ अपने संबंधों पर चिंता जताई है जो कथित तौर पर राष्ट्रीय सुरक्षा जोखिम पैदा करता है.

PUBG मोबाइल इंडिया उर्फ ​​बैटलग्राउंड मोबाइल इंडिया के वितरक क्राफ्टन, जो दक्षिण कोरिया में स्थित है, ने कहा था कि कंपनी ने भारत में गेम के वितरण के लिए चीन स्थित Tencent के साथ संबंध तोड़ लिया था. हालांकि, Tencent दुनिया भर में PUBG के वितरण के लिए दक्षिण कोरियाई ब्रांड के साथ जुड़ा हुआ है. यहीं वजह है कि कई नेता इस चिंता को उठा रहे हैं. एक विधायक ने यह भी आरोप लगाया कि आगामी बैटलग्राउंड मोबाइल मामूली संशोधन के साथ एक ही गेम है और कंपनी इसे भारत-विशिष्ट कहकर मात्र भ्रम पैदा कर रही है. बैटलग्राउंड मोबाइल इंडिया की सटीक लॉन्च तिथि स्पष्ट नहीं है.

पीएम को लिखा पत्र

अरुणाचल प्रदेश के विधायक निनोंग ईरिंग ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एक पत्र में मांग की है कि गेम को भारत में जारी नहीं किया जाना चाहिए क्योंकि यह अभी भी राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए जोखिम पैदा करता है ठीक वैसा ही जैसा कि सितंबर 2020 में प्रतिबंधित मूल PUBG मोबाइल के में था. निजामाबाद के सांसद धर्मपुरी अरविंद ने प्रतिबंधित PUBG मोबाइल के पुन: लॉन्च पर आपत्ति जताई. केंद्रीय आईटी मंत्री रविशंकर प्रसाद को लिखे पत्र में पत्र में कहा गया है कि बैटलग्राउंड मोबाइल इंडिया को लेकर चिंता जताई है. गढ़चिरौली (महाराष्ट्र) के सांसद अशोक नेटे और बीजेपी प्रवक्ता सुरेश नखुआ ने भी पीएम मोदी से चीनी कंपनी के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने का अनुरोध किया है.

क्या बोले कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अभिषेक सिंघवी

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अभिषेक सिंघवी ने आरोप लगाया कि केंद्र में सत्तारूढ़ दल ‘PUBG 2’ को लॉन्च करने की अनुमति देकर युवाओं का ध्यान भटका रहा है. सरकार ने पहले इसे प्रतिबंधित कर दिया और फिर 15.5 प्रतिशत चीनी हिस्सेदारी के साथ कंपनी में अप्रत्यक्ष प्रवेश की अनुमति दे दी.

Published by:Amit Deshmukh

First published:



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here