विद्या बालन का नाम आज इंडस्ट्री में काफी अदब और तहज़ीब से लिया जाता है. वो इंडस्ट्री की बेहतरीन अदाकारा मानी जाती हैं और बॉलीवुड में कदम रखने जा रहीं हर लड़की  का सपना होता है कि वो विद्या बालन जैसा नाम कमाए. लेकिन विद्या को ये मुकाम यूं ही नहीं मिल गया था. उनकी सफलता के पीछे भी स्ट्रगल की एक कहानी जुड़ी है. जिसे सालों बाद विद्या बालन ने अब साझा किया है. हाल ही में एक इंटरव्यू में विद्या बालन ने अपने स्ट्रगल पीरीयड को याद करते हुए बताया है कि जब करियर की शुरुआत में उन्होंने रिजेक्शन झेलें तो उनका क्या हाल हुआ था.

करियर के शुरूआत में झेले थे कई रिजेक्शन 
विद्या बालन ने हाल ही में खुलकर अपने स्ट्रगल पीरीयड पर बात की. ये उस दौर की बात है जब वो टेलीविज़न से फिल्मों में आने के लिए काफी हाथ पैर मार रही थीं. उन्होंने साउथ सिनेमा में ऑडिशन दिए थे लेकिन हर बार वो फेल हो रही थीं. उन्हें रिजेक्ट किया जा रहा था. उस वक्त उन्हें काफी बुरा लगता था और वो रात को सोते समय काफी रोती थीं. यहां तक कि रोते रोते वो कब सो जाती थी उन्हें पता ही नहीं चलता था.  उस वक्त विद्या बालन को लगने लगा था कि वो शायद एक्ट्रेस नहीं बन पाएंगीं. 

2005 में खुली किस्मत
विद्या बालन की किस्मत खुली साल 2005 में, जब उन्हें विधु विनोद चोपड़ा की फिल्म परिणीता के लिए साइन किया गया. इस फिल्म में संजय दत्त के साथ साथ सैफ अली खान भी थे. फिल्म को काफी पसंद किया गया और इसके बाद विद्या बालन एक के बाद एक फिल्मों में नजर आने लगीं. आज बॉलीवुड में उनके करियर को 15 साल पूरे हो चुके हैं और इन 15 सालों में उन्होंने काफी कुछ हासिल कर लिया है. आज उनकी गिनती सीनियर और काबिल एक्ट्रेस में की जाती है. 

ये भी पढ़ेंः

Kiran Rao और बेटे आजाद के साथ कारगिल में समय बिता रहे हैं Aamir Khan, एक दिन पहले किया था तलाक का ऐलान

बड़ा सा मांग टीका, नाक में नथ…शादी का एक महीना पूरा होने पर पति Aditya Dhar का हाथ थामे कुछ इस अंदाज़ में दिखींं Yami Gautam

  



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here