दक्षिण भारतीय व्यंजन सबकी पसंद होते हैं और इनसे आने वाली खुशबू  सबकी भूख बढ़ा देती है। खासकर इनके साथ परोसी जाने वाली सांभर और चटनियों के तो क्या कहने! यह स्वाद ही नहीं सेहत के लिए भी बहुत फायदेमंद हैं। 

अन्य देशों के मुकाबले भारतीय खानपान काफी अलग होता है। यहां हर 500 किलोमीटर में लोगों के खानपान की आदतें बदल जाती हैं, स्वाद बदल जाता है। मगर जब बात साउथ इंडियन फूड की आती है, तो यह भारत के लगभग हर राज्य में पसंद किया जाता है। इसके पीछे का मुख्य कारण इसका स्वाद तो है ही, इसके अलावा स्वास्थ्य से जुड़े अनेक फायदे भी हैं। 

ज्यादातर साउथ इंडियन फूड में सांभर या साबंर सबसे कॉमन करी है। जो पौष्टिकता और स्वाद से भरपूर होता है। उसमें कई प्रकार की सब्जियों व दालों का इस्तेमाल किया जाता है। फिर जब बात सांभर वड़ा और इडली सांभर की आती है, तो लोगों को समझ नहीं आता है कि इसमें से क्या चुनें? क्योंकि दोनों ही व्यंजन अपने आप में बेहद स्वादिष्ट होते हैं। 

मगर क्या आपने कभी सोचा है कि स्वास्थ्य की दृष्टि से क्या हमारे लिए ज़्यादा फायदेमंद है? अगर आपको भी यह दुविधा है तो आज हम आपकी यह दुविधा दूर करने वाले हैं, इसलिए हमारे साथ अंत तक बने रहें। 

तो चलिये फटाफट पता करिए कि क्या ज़्यादा बेहतर है? सांभर वड़ा या इडली सांभर! इसके लिए नीचे दिये गए लिंक पर क्लिक करें –

सांभर वड़ा या इडली सांभर, दोनों में से किसी एक को चुनना हो तो क्या है ज्यादा हेल्दी नाश्ता।

सेहत संबंधी ऐसी ही और भी जानकारियों के लिए लॉगऑन करें – हेल्थ शॉट्स डाॅट कॉम/ हिंदी



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here