नई दिल्ली। संसद का मानसून सत्र शुरू होते ही राज्यसभा के 12 सदस्यों को मानसून सत्र में हंगामा करने के आरोप में निलंबित कर दिया गया है। वहीं अब ये मुद्दा तूल पकड़ता जा रहा है। कांग्रेस नेता राहुल गांधी भी निलंबित सांसदों ने पक्ष में खड़े हो गए हैं। राहुल गांधी का कहना है कि संसद में जनता के मुद्दे उठाना अपराध नहीं है। ऐसे में सांसद कतई माफी नहीं मांगेंगे।

कल धरने पर बैठेंगे सांसद
इसके साथ ही कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने ऐलान कर दिया है कि कल से सभी निलंबित सांसद धरने पर बैठेंगे। कांग्रेस नेता ने सोशल मीडिया पर लिखा कि किस बात की माफी। संसद में जनता की बात उठाने की, बिलकुल नहीं। बता दें कि राज्यसभा के सभापति एम वेंकैया नायडू ने 12 विपक्षी सांसदों को निलंबित कर दिया था। इसके बाद विपक्षी सांसदों ने लोकसभा और राज्यसभा से वाकआउट किया। वहीं विपक्षी नेताओं ने संसद परिसर में महात्मा गांधी की प्रतिमा के सामने धरना देकर अपना विरोध दर्ज किया।

इस संबंध में जानकारी देते हुए कांग्रेस महासचिव केसी वेणुगोपाल ने बताया, हमने 12 राज्यसभा सांसदों के निलंबन के विरोध में बचे दिन के लिए लोकसभा की कार्यवाही का बहिष्कार किया है। उन्होंने बताया कि आज संसद की कार्यवाही शुरू होने के तुरंत बाद हमने राज्यसभा के सभापति से पूरे शीतकालीन सत्र के लिए सदन से 12 सांसदों के निलंबन को रद्द करने का अनुरोध भी किया है। फिलहाल सभापति को ओर से इस संबंध में कोई फैसला नहीं लिया गया है।

यह भी पढ़ें: अब बिहार में ड्रोन कैमरे से होगी शराब तस्करों की निगरानी

गौरतलब है कि संसद का शीतकालीन सत्र शुरू होने पर पहले ही दिन राज्यसभा से 12 सांसदों को निलंबित किया गया है। इसमें कांग्रेस, शिवसेना, टीएमसी और माकपा के सांसद शामिल हैं। इन सांसदों पर पिछले मानसून सत्र में अशोभनीय आचरण करने की वजह से निलंबित किया गया है। बता दें कि संसद के मानसून सत्र में विपक्ष ने किसान आंदोलन, बेरोजगारी, महंगाई जैसे मुद्दों पर जमकर हंगामा किया था।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here