जोधपुर में एक सरकारी सेवा से निवृत वृद्ध को सिम अपडेट के नाम पर ठग लिया गया। उनके रिटायर्डमेंट की 9.39 लाख से ज्यादा की रकम शातिर ने साफ कर दी।गूगल पर एनीडेस्क ऐप डाउन लोड करवा वारदात को अंजाम दिया। घटना 4 दिसम्बर की है, जिसका पता बैंक से स्टेटमेंट निकालने के बाद चला। इसके बाद पीडि़त वृद्ध प्रतापनगर थाना पहुँचा और केस दर्ज करवाया। पुलिस ने अब इसमें अनुसंधान आरंभ किया है। जोधपुर के प्रतापनगर थानाधिकारी सोमकरण ने बताया कि कमला नेहरू नगर द्वितीय विस्तार योजना सी-103 में रहने वाले राजकुमार जोशी पुत्र रामेश्वरदत्त जोशी सरकारी सेवा से निवृत है। उनका एक बैक एकाउंट खांडा फसला स्थित एसबीआई में आया है। वे बीएसएलएन की सिम को यूज में लेते है। मगर काफी समय से सिम का काम नहीं लेने पर वह बंद सी हो गई और मैसेज आने बंद हो गए थे। तब 3 दिसम्बर को एक नंबर से मैसेज मिला कि सिम बंद हो गई है और आप उसे 24 घंटे में रिचार्ज करें अन्यथा सिम ब्लॉक कर दी जाएगी। इस पर मैसेज भेजने वाले एक मोबाइल नंबर पर संपर्क किया गया तो वह बंद मिला। तीन चार दफा फोन कर प्रयास किया मगर दिए नंबर पर संपर्क नहीं हो पाया। इस पर राजकुमार जोशी के पास एक फोन आया और सिम बंद होने की जानकारी दी।

इस पर उन्होंने स्वयं के बीएसएनएल कार्यालय जानेे की बात कही। तब सामने वाले शख्स ने सिम के ऑनलाइन ही चालू हो जाने की बात कही और उन्हें पहले सिम रिचार्ज के लिए 11 रूपए डालने को कहा। 11 रूपए से रिचार्ज नहीं होने पर उसने कहा कि वे गूगल पर आकर एनीडेस्क ऐप का डाउनलोड करें। बात करते हुए शातिरों ने शातिर बातों मेें उलझाते भी रहा और उनके बैंक एकाउंट से 9 लाख 39 हजार 838 रूपए पार कर लिए। रूपए निकलने का मैसेज मिलते ही वे तुरंत एटीएम बैंक कार्यालय पर मिनी स्टेटमेंट निकालने गए। तब तक रकम साफ हो चुकी थी। थानाधिकारी सोमकरण ने बताया कि घटना में धोखाधड़ी एवं आईटी एक्ट में केस दर्ज किया गया है।

दो दिन पहले भी रिटायर्ड कर्मी से हुई थी और ठगी

शहर में साइबर क्राइम नहीं रूक रहा। लगातार शातिर किसी ना किसी बहाने लोगों से ठगी करने में लगे है। अभी दो दिन पहले ही रिटायर्ड बैंंककर्मी के खाते से डेढ़ लाख रूपए उड़ाए लिये गए, उसके बाद अब यह घटना को अंजाम दिया गया। दो दिन पहले भी शातिर ने सिम अपडेट के नाम पर रिटायर्ड बैंक कर्मी के खाते से डेढ़ लाख रूपए निकाले थे, जिसका मामला भगत की कोटी थाना में दर्ज हुआ है।

Posted By: Navodit Saktawat

 



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here