Solar Eclipse 2021: वर्ष का दूसरा और अंतिम सूर्य ग्रहण 4 दिसंबर 2021 को लगेगा। यह पूर्ण सूर्य ग्रहण होगा। जब अमावस्या सूरज और पृथ्वी के बीच आती है। वह अपनी छाया का सबसे गहरा भाग पृथ्वी पर डालती है। सूर्य ग्रहण का समय सुबह 10.59 बजे से शुरू होकर दोपहर 3.07 बजे तक रहेगा। हिंदू पंचांग के अनुसार 4 दिसंबर को मार्गशीर्ष मास के कृष्ण पक्ष की अमावस्या तिथि भी है।

कहां दिखाई देगा सूर्य ग्रहण?

सूर्य ग्रहण अंटार्कटिका, दक्षिण अफ्रीका, ऑस्ट्रेलिया और दक्षिण अमेरिका में दिखाई देगा। भारत में ग्रहण नजर नहीं आएगा। 4 दिसंबर को आकाशीय घटना को ऑनलाइन लाइव देख सकते हैं। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार सूर्य ग्रहण में सूतक काल मान्य नहीं होगा, क्योंकि ये उपछाया ग्रहण है।

इन पर पड़ेगा असर

सूर्य देव सिंह राशि के स्वामी है। ग्रहण का सबसे अधिक असर इस राशिवालों पर पड़ेगा। सिंह राशि के जातकों को वाद-विवाद से बचना होगा। शत्रु नुकसान पहुंचा सकते हैं। किसी को मदद करने के चक्कर में फंस सकते हैं। सूर्य ग्रहण के दिन अपने ईष्ट देवता के मंत्र का जाप करें।

ग्रहण के समय इन बातों का रखें विशेष ध्यान

1. ग्रहण के दौरान कुछ भी खाएं नहीं, क्योंकि तब नकारात्मक माहौल रहता है।

2. ग्रहण खाने और पानी पर नकारात्मक प्रभाव डालता है। इस दौरान भोजन और पानी में तुलसी के पत्ते डाल दें। जिससे ये शुद्ध रहें।

3. सूर्य ग्रहण के समय कोई शुभ कार्य नहीं करना चाहिए।

4. ग्रहण के दौरान भगवान की पूजा नहीं करना चाहिए। इस दौरान सभी मंदिरों के पट बंद कर दिए जाते हैं।

5. सूर्य ग्रहण के समय घर से बाहर नहीं निकले।

डिसक्लेमर

‘इस लेख में दी गई जानकारी/सामग्री/गणना की प्रामाणिकता या विश्वसनीयता की गारंटी नहीं है। सूचना के विभिन्न माध्यमों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/धार्मिक मान्यताओं/धर्मग्रंथों से संकलित करके यह सूचना आप तक प्रेषित की गई हैं। हमारा उद्देश्य सिर्फ सूचना पहुंचाना है, पाठक या उपयोगकर्ता इसे सिर्फ सूचना समझकर ही लें। इसके अतिरिक्त इसके किसी भी तरह से उपयोग की जिम्मेदारी स्वयं उपयोगकर्ता या पाठक की ही होगी।’

Posted By: Arvind Dubey

 

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here