Publish Date: | Sat, 11 Dec 2021 09:57 PM (IST)

Bihar : बिहार के मुख्यमंत्री भले ही ‘सुशासन बाबू’ के नाम से जाने जाते हों, लेकिन भ्रष्टाचार के मामले में ये प्रदेश भी किसी से कम नहीं है। सूचना के आधार पर विजिलेंस टीम ने जब लेबर इंफोर्समेंट ऑफिसर दीपक कुमार शर्मा के कई ठिकानों पर एक साथ छापेमारी की, तो उसकी काली कमाई देखकर वो भी हैरत में पड़ गये। इनमें से पटना के दीघा क्षेत्र के महावीर कॉलोनी स्थित आवास से टीम को बैग और बोरियों में भरे रुपये मिले। नोटों की संख्या इतनी अधिक थी कि गिनती के लिए मशीन मंगानी पड़ी। अधिकारियों के मुताबिक कैश की राशि 2 करोड़ 25 लाख के आसपास है। इसके अलावा डेढ़ करोड़ से ज्यादा की संपत्ति का पता चला है। घर में सोने के बिस्किट और हीरे-मोती के गहने मिले हैं, जिनकी कीमत करीब 2 करोड़ रुपये है। इसके अलावा 15-20 बैंकों के पासबुक, और दर्जनों डेबिट क्रेडिट कार्ड और जमीन से जुड़े कई डीड भी मिले हैं।

पटना के डीएसपी एसके मउआर ने दीपक कुमार के खिलाफ आय से अधिक संपत्ति के मामले को लेकर प्राथमिकी दर्ज कराई थी। इस पर कोर्ट से इजाजत मिलने पर यह छापेमारी की गई है। निगरानी की टीम ने दीपक कुमार के पटना, हाजीपुर और मोतिहारी स्थित ठिकानों पर एक साथ रेड डाली। बाकी जगहों पर मिली काली कमाई का भी अंदाजा लगाया जा रहा है। वैसे, निगरानी विभाग को इस बात की सूचना थी कि अधिकारी दीपक कुमार ने अवैध तरीके से काफी धन उगाया है, लेकिन कितनी होगी इसका अंदाजा नहीं था। दीपक कुमार फिलहाल हाजीपुर में तैनात हैं। उससे पहले वह कैमूर में पदस्थापित थे, जहां मजिस्ट्रेट के रुप में उन्होंने चेकपोस्ट पर भी ड्यूटी की। इसी दौरान जमकर माल उगाही की गई।

Posted By: Shailendra Kumar

 





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here