दंतेवाड़ा/चाईबासा: सुरक्षाबलों के लगातार बढ़ते दबाव ने नक्सलियों (Naxalite) की कमर तोड़कर रख दी है. वे अब सुरक्षाबलों से आमने-सामने भिड़ने के बजाय उन पर धोखे से IED विस्फोट कर हमलों को अंजाम दे रहे हैं. छत्तीसगढ़ और झारखंड में गुरुवार को घात लगाकर किए गए ऐसे ही IED विस्फोट में सुरक्षा बलों के चार जवान शहीद हो गए. 

निर्माणाधीन पुल की सुरक्षा में लगे हैं जवान

छत्तीसगढ़ ( Chhattisgarh) में दंतेवाडा जिले के एसपी डॉ अभिषेक पल्लव ने कहा कि सुरक्षाबलों के जवान इंद्रावती नदी पर चल रहे पुल निर्माण के काम की सुरक्षा में लगे हुए हैं. गुरुवार दोपहर में लक्ष्मीकांत द्विवेदी नाम का एक जवान खाना खाकर कुछ देर आराम करने के लिए पास में आम के पेड़ के नीचे बैठ गया. 

पेड़ के नीचे मिट्टी में छिपा रखा था टिफिन बम

एसपी ने बताया कि जिस जगह जवान बैठा, वहां पर मिट्टी के नीचे नक्सलियों (Naxalite) ने 5 किलो का टिफिन बम लगाया हुआ था. जवान के बैठते ही बम पर भार पड़ा और वह तेज आवाज के साथ फट गया. घटना में जवान लक्ष्मीकांत द्विवेदी बुरी तरह घायल हो गए. उन्हें पास के अस्पताल में ले जाया गया लेकिन उन्होंने रास्ते में ही दम तोड़ दिया. 

झारखंड में भी नक्सलियों ने किया IED विस्फोट

उधर झारखंड (Jharkhand) में चाईबासा जिले में भी नक्सलियों (Naxalite) ने सुरक्षा बलों को निशाना बनाकर एक IED विस्फोट किया. इस घटना में तीन जवान शहीद हो गये और दो जवान घायल हो गए. पुलिस सूत्रों के मुताबिक टोकलो थाना क्षेत्र के लांजी जंगल में गुरुवार सुबह सुरक्षाबल कॉम्बिंग कर रहे थे. तभी नक्सलियों की ओर से जंगल में छिपाए गए IED में धमाका हो गया. 

Jaguar Force के 3 जवान शहीद हुए

सूत्रों के मुताबिक इस घटना में झारखंड (Jharkhand) राज्य की ओर से एंटी-नक्सल ऑपरेशन के लिए गठित जगुआर बल (Jaguar Force) के तीन जवान शहीद हो गए. शहीद हुए जवानों की पहचान हेड कांस्टेबल देवेंद्र कुमार, कांस्टेबल हरद्वार शाह और कांस्टेबल किरण सुरीन के रूप में हुई है. वहीं जगुआर बल और CRPF के 1-1 जवान घायल हो गए. 

ये भी पढ़ें- नक्सली हिंसा पर छत्तीसगढ़ विधानसभा में सरकार ने दी बड़ी जानकारी, पिछले दो साल में शहीद हुए 54 जवान

घायल जवानों को हेलीकॉप्टर से रांची लाया गया

घायल हुए जवानों को इलाज के लिए हेलीकॉप्टर से रांची लाया गया है. वहीं नक्सलियों (Naxalite) के खिलाफ कार्रवाई के लिए पूरे इलाके की घेराबंदी कर कॉम्बिंग तेज करने का निर्देश दिया गया है. दूसरे इलाकों से भी जवानों को नक्सलियों पर एक्शन के लिए जंगल में भेजा गया है. (इनपुट भाषा)

LIVE TV





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here