नई दिल्‍ली: देशभर में कोरोना वायरस (Coronavirus) संक्रमण का कहर है. पिछले 24 घंटे में देश में कोरोना के करीब 2 लाख नए मामले सामने आए. साल 2020 के मुकाबले 2021 में कोरोना की लहर ज्यादा खतरनाक है.

डॉक्‍टर्स के अनुसार, इस बार कोरोना वायरस का संक्रमण कान और आंख पर सीधा अटैक कर रहा है. कोरोना का नया स्ट्रेन इस बार वायरल बुखार, पेट दर्द, डायरिया, अपच, गैस, उल्‍टी दस्‍त, भूख न लगना, बदन दर्द और एसिडिटी जैसे लक्षणों के साथ आया था. लेकिन संक्रमण बढ़ने के बाद अब कोरोना के कुछ और लक्षण भी सामने आ गए हैं.

गौरतलब है कि एसजीपीजीआई (SGPGI) और केजीएमयू (KGMU) समेत कई कोविड हॉस्पिटल में एडमिट कोरोना मरीजों को देखने-सुनने में परेशानी बढ़ी है. डॉक्टर्स ने बताया कि यहां ऐसे कई मरीज हैं जिनको दोनों कान से सुनाई देना कम हो गया है. इसके अलावा कम दिखाई पड़ने की शिकायत भी आई है. एक्सपर्ट्स का कहना है कि गंभीर स्थिति हो जाने पर कोरोना शरीर के कई अंगों पर असर डालता है.

उन्होंने आगे कहा कि कोरोना ने जिस तरह से अपना रूप बदला है, उसके बाद से चिंता बढ़ गई है. कोरोना के प्रोटोकॉल का पालन करना ही सिर्फ एक उपाय है. हालांकि नए वैरिएंट में राहत वाली बात ये है कि नया स्ट्रेन अच्छी इम्युनिटी वाले मरीज को ज्यादा वक्त परेशान नहीं करता है. 5-6 दिनों में वह ठीक होने लगता है.

आरएमएल (RML) हॉस्पिटल, लखनऊ में मेडिसिन डिपार्टमेंट के चीफ डॉक्टर विक्रम सिंह ने कहा कि कोरोना वायरस का दूसरा स्ट्रेन लोगों को तेजी से बीमार कर रहा है. इससे मरीजों को उ‌लटी-दस्त, गैस, अपच, एसिडिटी, बदन दर्द, अकड़न और सुनने में परेशानी की समस्या हो रही है.





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here