नई दिल्ली: वैक्सीनेशन की प्रक्रिया में तेजी के बावजूद कुछ राज्यों में कोरोना पॉजिटिव मरीजों (Corona Patient) की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है. केंद्र सरकार (Central Government) ने इस पर चिंता जाहिर करते हुए सतर्क रहने की अपील की है. साथ ही इस पर लगाम लगाने के लिए अधिकारियों को ट्रेस्ट, ट्रैक और ट्रीट की रणनीति पर काम करने के निर्देश दिए हैं. 

केंद्र ने कहा कि जिन जिलों में ज्यादा संख्या में संक्रमण के मामले सामने आ रहे हैं, वहां मिशन मोड में प्रायोरिटी वाले पॉपुलेशन ग्रुप को वैक्सीन दी जानी चाहिए. इसके लिए कम से कम 15 दिनों और अधिकतम 28 दिनों के लिए प्राइवेट अस्पतालों (Private Hospitals) को साथ मिलकर काम करने की जरूरत है, ताकि कम समय में ज्यादा लोगों को कोरोना का टीका (Corona Vaccine) लगाया जा सके.

ये भी पढ़ें:- मौसम को लेकर IMD ने जारी किया नया अलर्ट, इन राज्यों में बारिश के आसार

कोरोना जांच में होगी बढ़ोतरी

इसके अलावा जो जिले आज भी कोरोना जांच के लिए एंटीजन टेस्ट पर निर्भर हैं, वहां आरटी-पीसीआर की जांच बढ़ाई जाएगी. वहीं ज्यादा मामले में बढ़ने पर वापस कंटेनमेंट जोन बनाए जाएं और सख्ती के साथ लोगों से कोरोना नियमों का पालन कराया जाए. इसके अलावा हर कोरोना संक्रमित के संपर्क में आए कम से कम 20 लोगों की जांच की जाए जो पिछले कुछ दिनों में उसके संपर्क में आए हों.

ये भी पढ़ें:- बंगाल चुनाव: BJP ने जारी की 57 उम्मीदवारों की लिस्ट, ममता के खिलाफ शुवेंदु को टिकट

इन सभी राज्यों में होगी सख्ती

गौरतलब है कि हरियाणा के 15 जिले, आंध्रप्रदेश के 10 जिले, ओडिशा के 10 जिले, गोवा, हिमाचल प्रदेश के 9 जिले, उत्तराखंड के 7 जिले, केंद्र शासित प्रदेश दिल्ली के 9 जिले और चंडीगढ़ के एक जिले में रोजाना मिलने वाले कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या में तेजी से बढ़ोतरी हो रही है. आदेश के अनुसार, इन सभी जगहों को कंटेनमेंट जोन बनाए जाएंगे और क्लीनिकल मैनेजमेंट पर खास ध्यान दिया जाएगा.

LIVE TV





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here