पीडि़ता के कपड़ों पर वीर्य के नमूनों को आधार मानते हुए अदालत ने विजय को दोषी माना तथा अंतिम श्वांस तक जेल की सजा सुनाई।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here