Yoga Asanas For Weak Eyesight: विश्वभर में हर साल  21 जून को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाया जाता है। अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाने की शुरुआत सबसे पहले भारत की पहल से हुई थी। भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 24 सितंबर 2014 को संयुक्त राष्ट्र महासभा में योग दिवस मनाए जाने की पहल की थी। जिसके बाद 11 दिसंबर 2014 को संयुक्त राष्ट्र में 177 मेंबरों द्वारा 21 जून को इंटरनेशन योगा डे मनाने की मंजूरी मिली और इसके बाद 21 जून साल 2015 को पहला अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाया गया। योग न सिर्फ व्यक्ति को शारीरिक बल्कि मानसिक मजबूती भी देता है। ऐसे में आइए जानते हैं ऐसे 5 आसन जो आपकी आंखों की सेहत बनाए रखने के साथ आंखों की रोशनी भी तेज करने में मदद करते हैं। 

आंखों की रोशनी बढ़ाने के लिए योगासन-
-भूमिपाद मस्तकासन (Bhumipada Mastakasana) –

भूमिपाद मस्तकासन को नियमित रूप से करने से आंखों की रोशनी अच्छी होने के साथ गर्दन, पीठ, पैरों और हाथों की मांसपेशियों को मजबूती मिलती है। इतना ही नहीं यह आसन सुनने की शक्ति और एकाग्रता बढ़ाकर तनाव कम करने में भी मदद करता है। 

सूर्य नमस्कार-(Surya Namaskar )
सूर्य नमस्कार करने से न सिर्फ आंखों की रोशनी में सुधार होता है बल्कि व्यक्ति अपने अनचाहे बढ़ते वजन से भी आसानी से छुटकारा पा सकता है। इस आसन को नियमित तौर पर करने से डाइटिंग से भी ज्यादा फायदा होता है। अगर आपकी आंखो की रोशनी कमजोर है तो सूर्य को लगातार 10 मिनट तक रोजाना देखने से लाभ मिलेगा। 

शवासन-(Shavasana )
शवासन आसन को करने से थकावट दूर होती है। सांस और नब्ज़ की गति सामान्य होने के साथ आंखों को भी काफी आराम मिलता है। इस आसन को करने से आंखों की रोशनी भी बढ़ती है।

-बद्धकोणासन-(Baddha Konasana)-
बद्धकोणासन को तितली आसन भी कहा जाता है। ऐसा इसलिए इस आसान को करते समय तितली का आकार बनाया जाता है। आसान करते समय जब घुटनों को ऊपर-नीचे किया जाता है, तो व्यक्ति का शरीर बिल्कुल तितली सा प्रतीत होता है। इस आसान के नियमित अभ्यास करने से शरीर में रक्त संचार बेहतर होने के साथ घुटनों, हैमस्ट्रिंग को भी मजबूती मिलती है। तितली आसन को रोजाना करने से आंखों की रोशनी तेज होती है। 

-त्राटक योग (Tratak Yoga)-
नियमित रूप से त्राटक योग करने से आंखों की रोशनी में सुधार होने के साथ आंखों से संबंधित सभी रोग भी दूर होते हैं। इस योग को करने से व्यक्ति की एकाग्रता और स्मृति में बढ़ोत्तरी होती है। त्राटक योग का रोजाना अभ्यास व्यक्ति का तनाव, चिंता और थकान को भी दूर करने में मदद करता है। 

इन्हें भी आजमाएं
-सुबह-शाम -योग निद्रा करें।
-मुंह में पानी भर कर आंखों पर ताजे पानी के छींटें मारें।
-बहुत कम या बहुत तेज रोशनी में न पढ़ें। लेट कर भी न पढ़ें और न ही लेट कर टीवी देखें।
-अधिक तनाव एवं कब्ज से बचें।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here