नई दिल्ली. आईटी मिनिस्टर रविशंकर प्रसाद ने नए आईटी नियमों (IT Rules 2021) के तहत गूगल, फेसबुक और इंस्टाग्राम जैसे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म द्वारा आपत्तिजनक पोस्ट स्वत: हटाने पर अपनी पहली कम्पलाइंस रिपोर्ट पब्लिश करने के लिए उनकी तारीफ की और इसे पारदर्शिता की दिशा में बड़ा कदम बताया.

हर महीने जारी करनी है रिपोर्ट

बता दें कि नए आईटी नियमों के तहत 50 लाख से ज्यादा यूजर्स वाले बड़े डिजिटल प्लेटफॉर्म को हर महीने कम्पलाइंस रिपोर्ट प्रकाशित करनी होगी जिसमें प्राप्त शिकायतों और उन पर की गयी कार्रवाई का उल्लेख हो.

प्रसाद ने ट्वीट किया, ‘‘गूगल, फेसबुक और इंस्टाग्राम जैसे महत्वपूर्ण सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म को नये आईटी नियमों का पालन करते देखना सुखद है. उनके द्वारा नए आईटी नियमों के अनुसार आपत्तिजनक पोस्ट को स्वत: हटाने पर पहली कम्पलाइंस रिपोर्ट का प्रकाशन पारदर्शिता की दिशा में बड़ा कदम है.

Twitter पर बढ़ेगा दबाव

गूगल, फेसबुक और इंस्टाग्राम द्वारा अनुपालन रिपोर्ट जारी करने से ट्विटर पर दबाव बढ़ सकता है जिसका नए नियमों को लेकर केंद्र सरकार के साथ गतिरोध बना हुआ है. सरकार ने देश के नये आईटी नियमों का अनुपालन नहीं करने पर और इसके लिए अधिकारियों की नियुक्ति नहीं करने पर ट्विटर से नाराजगी जताई थी.

गूगल, इंस्टाग्राम, कू और फेसबुक ने पेश की पहली रिपोर्ट

फेसबुक ने शुक्रवार को अपनी पहली मासिक अनुपालन रिपोर्ट में कहा कि उसने देश में 15 मई से 15 जून के बीच उल्लंघन की 10 श्रेणियों में तीन करोड़ से अधिक सामग्रियों पर कार्रवाई की. इंस्टाग्राम ने इसी अवधि में नौ श्रेणियों में करीब 20 लाख पोस्ट, तस्वीर, वीडियो और टिप्पणी आदि पर कार्रवाई की.

गूगल ने बताया कि उसे और यूट्यूब को इस साल अप्रैल में भारत के यूजर्स से 27,762 शिकायतें स्थानीय कानूनों या निजी अधिकारों के कथित हनन की मिली थीं और उन्होंने परिणामस्वरूप 59,350 सामग्रियों (पोस्ट, तस्वीर, वीडियो और टिप्पणी) आदि को हटाया. भारतीय सोशल मीडिया कंपनी कू ने भी इस संबंध में अपनी रिपोर्ट दी है.





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here