नई दिल्ली. सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म फेसबुक (Fcebook) ने देश में 15 मई से 15 जून के दौरान 10 उल्लंघन श्रेणियों में आने वाले 30 मिलियन यानी 3 करोड़ से अधिक पोस्ट को हटा दिया. सोशल मीडिया दिग्गज ने आईटी नियमों द्वारा अनिवार्य अपनी पहली मासिक अनुपालन रिपोर्ट में इसकी जानकारी दी. वहीं फेसबुक के स्वामित्व वाले इंस्टाग्राम ने भी इसी अवधि के दौरान लगभग नौ श्रेणियों में आने वाले लगभग 2 मिलियन यानी 2 करोड़ पोस्ट के खिलाफ एक्शन लिया.

मालूम हो नए आईटी नियमों के तहत, बड़े डिजिटल प्लेटफॉर्म (5 मिलियन से अधिक यूजर्स वाले) को हर महीने पीरियोडिक कम्पलाइंस रिपोर्ट प्रकाशित करनी होगी, जिसमें प्राप्त शिकायतों और उन पर की गई कार्रवाई का विवरण कंपनियों को देना होगा.

अगली रिपोर्ट 15 जुलाई को 

फेसबुक ने कहा कि उसकी अगली रिपोर्ट 15 जुलाई को प्रकाशित की जाएगी, जिसमें प्राप्त शिकायतों और की गई कार्रवाई का विवरण होगा. इस सप्ताह की शुरुआत में, फेसबुक ने कहा था कि वह 2 जुलाई को एक अंतरिम रिपोर्ट प्रकाशित करेगा, जिसमें उसके द्वारा हटाए गए कंटेंट की संख्या के बारे में जानकारी दी जाएगी. 15 मई से 15 जून के दौरान सक्रिय रूप से. अंतिम रिपोर्ट 15 जुलाई को प्रकाशित की जाएगी, जिसमें प्राप्त उपयोगकर्ता शिकायतों और की गई कार्रवाई का विवरण होगा.

ये भी पढ़ें – गूगल मैप ने किया गुमराह, जाना था उदयपुर और पहुंचा दिया कीचड़ से भरे खेत में!

ये कंटेंट हटाए फेसबुक ने 

15 जुलाई की रिपोर्ट में व्हाट्सऐप से संबंधित डेटा भी शामिल होगा, जो कि फेसबुक के ऐप्स के परिवार का हिस्सा है. अन्य प्रमुख प्लेटफ़ॉर्म जिन्होंने अपनी रिपोर्ट को सार्वजनिक किया है, उनमें Google और घरेलू प्लेटफ़ॉर्म  शामिल हैं. फेसबुक ने अपनी रिपोर्ट में कहा कि उसने 15 मई से 15 जून के दौरान 10 श्रेणियों में 30 मिलियन से अधिक सामग्री पर कार्रवाई की है. इसमें स्पैम (25 मिलियन), हिंसक और ग्राफिक सामग्री (2.5 मिलियन), वयस्क नग्नता और यौन गतिविधि से संबंधित सामग्री शामिल है. जिन अन्य श्रेणियों के तहत सामग्री पर कार्रवाई की गई, उनमें बदमाशी और उत्पीड़न, आत्महत्या, खतरनाक संगठन और व्यक्ति, आतंकवादी प्रचार आदि शामिल हैं.



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here