श्रीनगर: आतंकियों ने साल 2021 में जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) में आईईडी का इस्तेमाल बढ़ा दिया है. सुरक्षाबलों के लिए यह एक चिंता का विषय है. माना जा रहा है कि यह आतंकियों की नई रणनीति है. एक बड़ी त्रासदी सोमवार की सुबह टल गई, जब एक आईईडी (Improvised Explosive Device) श्रीनगर शहर के नौगाम इलाके में पाया गया.

जिस जगह पर विस्फोटक रखा गया था, वह रेल की पटरी से बहुत दूर नहीं था. यह इस तरह का पहला मामला नहीं है. पिछले कुछ हफ्तों में ऐसे कई IED देखे गए हैं. यह हर समय नहीं होता है कि विस्फोट होने से पहले उसका पता लग जाए.

2021 में आतंकवादी घातक IED का इस्तेमाल करने की नीति की ओर बढ़ रहे हैं. सुरक्षाबल (Security Forces) भी मानते हैं कि आतंकी IED का इस्तेमाल ज्यादा करने लगे हैं.

आईजीपी कश्मीर विजय कुमार ने कहा, ‘हां हमने भी देखा है. हम सभी जानते हैं कि आतंकवादी हर साल अपने तौर-तरीके बदलते हैं. पिछले साल वे नाका पार्टियों पर हमला कर रहे थे और इस साल ऐसा लगता है कि आईईडी का इस्तेमाल कर रहे हैं. लेकिन हम इससे भी निपटने के लिए तैयार हैं.’

ये भी पढ़ें- पश्चिम बंगाल की राजनीतिक हिंसा का सच आया सामने, गृह मंत्रालय ने EC को सौंपी रिपोर्ट

पिछले कुछ हफ्तों में यह खतरा बहुत स्पष्ट रूप से सामने आया है. 16 फरवरी, 2021 को दक्षिण कश्मीर में बिजबेहारा के पजलपोरा इलाके में एक IED बरामद हुआ था. विस्फोट सीआरपीएफ के एक गश्ती दल के पास किया गया था. ऐसा लग रहा था कि गश्ती दल ही निशाना था.

आतंकियों ने एक इंप्रोवाइज्ड एक्सप्लोसिव डिवाइस (IED) विस्फोट किया, जो अधिकारियों के अनुसार एक ट्रक में छिपा हुआ था. जाहिर तौर पर वह रिमोट कंट्रोल डिवाइस से ट्रिगर किया गया था. हालांकि इससे कोई मानवीय क्षति नहीं हुई. इस विस्फोट पर बोलते हुए पुलिस ने खुलासा किया कि उस क्षेत्र में एक आईईडी विशेषज्ञ था.

आईजीपी विजय कुमार ने कहा, ‘हाल ही में जम्मू में हिदायतुल्ला को गिरफ्तार किया गया था. उसने स्वीकार किया कि बिजबेहरा में एक स्थानीय आतंकवादी है, जो आईईडी विशेषज्ञ है. बिजबेहरा के पजलपोरा में हाल ही में हुए विस्फोट को उसने ही अंजाम दिया था.’

ये भी पढ़ें- जम्मू-कश्मीर पर आया अमेरिका की नई सरकार का बयान, जानिए भारत के साथ रिश्ते पर क्या कहा

इसी महीने में एक और बड़ी घटना होने से टल गई. जब जम्मू-कश्मीर पुलिस ने जम्मू बस स्टैंड पर 6-6.5 किलोग्राम वजनी एक विस्फोटक (IED) बरामद किया था.

27 जनवरी, 2021 को दक्षिण कश्मीर के कुलगाम में आतंकवादियों ने आईईडी विस्फोट किया था. जिसमें एक सैनिक की मौत हो गई थी, जबकि तीन अन्य घायल हो गए थे.  यह विस्फोट शमशीपुरा इलाके में एक स्कूल के अंदर हुआ था, जब सेना की एक रोड ओपनिंग पार्टी सैनिटाइजेशन ड्रिल कर रही थी.

LIVE TV





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here