टीएमसी सांसद मिमी चक्रवर्ती की तबीयत बिगड़ी, कोलकाता के ‘फर्जी कैम्प’ में ली थी वैक्सीन, मामले की जांच के लिए SIT गठित

नई दिल्ली। तृणमूल कांग्रेस ( TMC ) की सांसद औ बंगाली अभिनेत्री मिमी चक्रवर्ती ( Mimi chakraborty ) को लेकर बड़ी खबर सामने आई है। बताया जा रहा है कि मिमी चक्रवर्ती की तबीयत बिगड़ी है। दरअसल हाल ही में कस्बा इलाके में एक फर्जी वैक्सीनेशन ( Vaccination ) कैंप में मिमी को कोविड की वैक्सीन लगाई गई थी।
हालांकि इसके बाद मिमी चक्रवर्ती ने खुद वीडियो साझा कर खुद के स्वस्थ्य होने की बात कही थी।

उन्होंने कहा था कि वे ठीक और उम्मीद करती हैं इस कैंप में जिन्होंने भी नकली वैक्सीन लगवाई वे भी ठीक होंगे। उन्होंने फर्जी वैक्सीनेशन कैंप को लेकर भी कुछ बातें साझा की थीं, कि किस तरह उन्हें ये जानकारी मिली।

यह भी पढ़ेंः शरद पवार ने भी माना कांग्रेस के बिना गठबंधन संभव नहीं है, जानिए क्या हैं इस बयान के मायने? क्यों है कांग्रेस जरूरी?

कोलकाता में फ्रॉड कोरोना वैक्सीनेशन का शिकार हुईं टीएमसी की जादवपुर लोकसभा सीट से सांसद मिमी चक्रवर्ती (Mimi Chakraborty) की तबीयत बिगड़ गई है। चार दिन पहले उन्हें नकली वैक्सीन लगाई गई थी।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार उन्हें बुखार, अधिक पसीना और पेट दर्द की दिक्कत हो रही है। डॉक्टर्स ने उन्हें अस्पताल में भर्ती करने की सलाह दी लेकिन उन्होंने फिलहाल घर पर ही रहकर इलाज करवाने का फैसला किया है।

दरअसल पुलिस ने इस मामले में खुद को आईएएस अधिकारी बताकर मिमी को झांसा देने वाले देबांजन देब नामक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। इस केस में एसआईटी का गठन कर दिया गया है।

ऐसे दिया मिमी को झांसा
टीएमसी सांसद मिमी ने एक वीडियो के जरिए बताया था कि ‘मेरे पास एक शख्स ने अपने आपको आईएएस ऑफिसर बताया और कहा कि वे ट्रांसजेंडर्स और दिव्यांगों के लिए स्पेशल वैक्सीनेशन ड्राइव चला रहे हैं। इसके साथ ही उस शख्स ने मुझसे वैक्सीनेशन कैंप में आने का अनुरोध किया।’

कोविन से नहीं याना मैसेज
मैंने लोगों का मनोबल बढ़ाने के लिए कोविशील्ड की वैक्सीन भी लगवाई, लेकिन कभी भी को-विन से कंफर्मेशन का मैसेज नहीं आया।

इसके बाद कोलकाता पुलिस से मैंने शिकायत की और आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया। टीएमसी सांसद का कहना है कि आरोपी शख्स फर्जी स्टिकर और नीली बत्ती भी अपनी गाड़ी पर इस्तेमाल कर रहा था।

वहीं कोलकाता पुलिस का कहना है, ‘हमें ऐसी कोई वायल नहीं मिली है, जिस पर एक्सपायरी डेट हो। जब्त की गई वैक्सीन वायल को जांच के लिए भेजा जाएगा, जिससे पता चल सके कि वह असली है या नकली।
आरोपी से इस संबंध में पूछताछ की जा रही है।

यह भी पढ़ेंः 4 कारण, जिनकी वजह से तेजस्वी चिराग पासवान को महागठबंधन में जोड़ना चाहते हैं

कैंप में 250 ने लगवाई फर्जी वैक्सीन
पुलिस के मुताबिक कस्बा इलाके में लगाए गए इस फर्जी कैंप में मिमी चक्रवर्ती के अलावा करीब 250 लोगों ने फर्जी वैक्सीन लगवाई है।





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here