Publish Date: | Sun, 12 Dec 2021 09:45 PM (IST)

Kashi Vishwanath Corridor : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) 13 दिसंबर को श्रीकाशी विश्वनाथ धाम और नवनिर्मित कॉरिडोर का लोकार्पण करेंगे। आपको बता दें कि इस परियोजना के तहत काशी विश्वनाथ मंदिर को सीधे गंगा घाटों से जोड़ा जा रहा है। पीएम मोदी के आने से पहले तमाम तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। पूरी वाराणसी इस कार्यक्रम के लिए सज-धजकर तैयार दिख रही है। इस ऐतिहासिक पल पर वाराणसी (Varanasi) में 11 राज्यों के मुख्यमंत्री भी आ रहे हैं। कॉरिडोर लोकार्पण का कार्यक्रम बहुत ही भव्य होने वाला है और इसके तहत एक महीने तक काशी में सांस्कृतिक कार्यक्रम चलेंगे। रविवार को खुद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने काशी पहुंचकर अंतिम तैयारियों का जायजा लिया।

कैसे तैयार हुआ ये कॉरिडोर?

इस परियोजना को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का ड्रीम प्रोजेक्ट माना जाता है। इसकी आधारशिला 2019 में रखी गई थी। करीब 800 करोड़ रुपये की परियोजना के तहत बाबा विश्वनाथ के मंदिर को सीधे गंगा नदी के घाटों से जोड़ दिया गया है। इसे पूरा करने के लिए वाराणसी के एक भीड़भाड़ वाले हिस्से में घरों और छोटे मंदिरों के अधिग्रहण की एक मुश्किल प्रक्रिया से गुजरना पड़ा। शुरुआत में कई लोग अपने घरों के अधिग्रहण से परेशान थे, क्योंकि कई घरों में प्राचीन मंदिर थे। लेकिन सभी को समझा-बुझाकर अधिग्रहण का काम पूरा कर लिया गया। पीएम के कार्यक्रम में हिस्सा लेने के लिए बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा भी रविवार को वाराणसी पहुंचे और काशी विश्वनाथ मंदिर में पूजा-अर्चना की।

क्या है उद्देश्य?

एक तरफ काशी विश्वनाथ धाम कॉरिडोर लोगों की आस्था से जुड़ा है, तो दूसरी और यूपी की राजनीति से भी। इसलिए करीब पौने तीन साल में तैयार हुए इस कॉरिडोर का उद्घाटन करने लिए खुद प्रधानमंत्री मोदी आ रहे हैं। साथ ही इसे बीजेपी के शक्ति प्रदर्शन के तौर पर देखा जा रहा है। परियोजना के उद्घाटन में देरी नहीं की जा सकती क्योंकि जल्द ही प्रदेश में आचार संहिता लागू हो जाएगी। आपके बता दें कि इस वाराणसी यात्रा के साथ प्रधानमंत्री ने उत्तर प्रदेश में पिछले महीने में नौ दिन बिताए हैं। योगी आदित्यनाथ भी लगातार चुनावी सभाओं का आयोजन कर रहे हैं और विपक्ष पर निशाना साधने का कोई मौका नहीं चूक रहे। ये आयोजन बीजेपी के चुनावी अभियान को गति देनेवाला भी माना जा रहा है।

Posted By: Shailendra Kumar

 





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here