जिन पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं उनमें उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, गोवा, पंजाब और मणिपुर शामिल है। इन पांचों राज्यों के चुनाव काफी अहम हैं। जहां एक ओर भाजपा के पास चार राज्यों में सत्ता बचाने की चुनौती है तो वहीं पंजाब में चल रहे सियासी अंतर्कलह के बीच कांग्रेस के लिए भी एक बड़ी चुनौती है।

By: Anil Kumar

Published: 27 Jun 2021, 09:45 PM IST

नई दिल्ली। कोरोना संक्रमण के बीच 2021 में संपन्न हुए पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव के बाद अब 2022 में होने वाले पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव को लेकर सियासी सरगर्मी बढ़ने लगी है। तमाम पार्टियां ने अपने विरोधियों को मात देने के लिए अभी से ही कमर कसना शुरू कर दिया है।

जिन पांच राज्यों चुनाव होने वाले हैं उनमें उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, गोवा, पंजाब और मणिपुर शामिल है। इन पांचों राज्यों के चुनाव काफी अहम हैं। जहां एक ओर भाजपा के पास चार राज्यों में सत्ता बचाने की चुनौती है तो वहीं पंजाब की सत्ताधारी पार्टी में चल रहे सियासी अंतर्कलह के बीच कांग्रेस के लिए भी एक बड़ी चुनौती है।

इन पांचों राज्यों में से सबकी और पूरे देश की नजरें उत्तर प्रदेश पर टिकी हैं। उत्तर प्रदेश का चुनाव कई मायनों में इस बार अहम है। इसलिए तमाम सियासी पार्टियां अपने-अपने जीत के दावे के साथ चुनावी मैदान में उतर रही हैं। भाजपा ने विधानसभा चुनावों के मद्देनज़र अपनी तैयारियां शुरू कर दी हैं।
100 सीटों पर चुनाव लड़ेगी AIMIM
इस बीच, बिहार के चुनाव में सबको चौंका देने वाली असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी ऑल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन ने भी उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए ताल ठोक दी है। AIMIM प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने घोषणा की है उनकी पार्टी यूपी चुनाव में 100 उम्मीदवार मैदान में उतारेगी। गठबंधन के मसले पर उन्होंने स्पष्ट किया कि अभी तक किसी के साथ कोई बात नहीं हुई है। हालांकि, बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी) के साथ गठबंधन को लेकर चर्चाएं चल रही थीं, लेकिन इसको लेकर अभी कोई खबर सामने नहीं आई है।
ओवैसी ने ट्वीट करते हुए लिखा, ”उ.प्र. चुनाव को लेकर मैं कुछ बातें आपके सामने रख देना चाहता हूं- 1) हमने फैसला लिया है कि हम 100 सीटों पर अपना उम्मीदवार खड़ा करेंगे, पार्टी ने उम्मीदवारों को चुनने का प्रक्रिया शुरू कर दी है और हमने उम्मीदवार आवेदन पत्र भी जारी कर दिया है।
2) हम @oprajbhar साहब ‘भागीदारी संकल्प मोर्चा’ के साथ हैं।
3) हमारी और किसी पार्टी से चुनाव या गठबंधन के सिलसिले में कोई बात नहीं हुई है।

बीएसपी-जेडीयू अकेले लड़ेगी चुनाव
आगामी उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए बीएसपी ने अकेले चुनाव लडऩे की घोषणा की है। मायावती ने एआईएमएईएस के साथ गठबंधन को खारिज करते हुए कहा कि बीएसपी अकेले चुनाव लड़ेगी। मायावती ने ट्वीट करते हुए लिखा, ‘एक न्यूज़ चैनल में कल से यह खबर प्रसारित की जा रही है कि यूपी में आगामी विधानसभा आम चुनाव ओवैसी की पार्टी एआईएमआईएम व बीएसपी मिलकर लड़ेगी। यह खबर पूर्णत: गलत, भ्रमक व तथ्यहीन है। इस खबर में रत्तीभर भी सच्चाई नहीं है तथा बीएसपी इसका जोरदार खंडन करती है।
उन्होंने आगे यह भी लिखा कि
मायावती ने ट्वीट में यह भी लिखा ”वैसे इस सम्बन्ध में पार्टी द्वारा फिरसे यह स्पष्ट किया जाता है कि पंजाब को छोड़कर, यूपी व उत्तराखण्ड प्रदेश में अगले वर्ष के प्रारंभ में होने वाला विधानसभा का यह आमचुनाव बीएसपी किसी भी पार्टी के साथ कोई भी गठबन्धन करके नहीं लड़ेगी अर्थात् अकेले ही लड़ेगी।”
वहीं, बीएसपी के अलावा नीतीश कुमार की पार्टी जनता दल यूनाइटेड (JDU) ने भी यूपी विधानसभा चुनाव अकेले लड़ने की घोषणा की है। जेडीयू ने कहा है कि पार्टी गठबंधन का स्वागत करेगी। यदि गठबंधन नहीं होता है तब भी जेडीयू उत्तर प्रदेश में 200 सीटों पर चुनाव लड़ेगी।





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here